चाहे कोई हमारी बात समझे या न समझे सदा संक्षेप अच्छा रहता है

चाहे कोई हमारी बात समझे या न समझे सदा संक्षेप अच्छा रहता है

चाहे कोई हमारी बात समझे या न समझे सदा संक्षेप अच्छा रहता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *