Happiness Pursuit Of Happiness | Joy

Happiness Pursuit Of Happiness | Joy

ख़ुशी वही इन्सान हासिल करता है जो अपनी ख्वाहिशों को काबू में रखे |

जिस घर की औरतें उदास रहती हैं ,वहाँ खुशियाँ कभी नहीं आती |

आपत्तियों पर विजय पाना जीवन का सबसे बड़ा आनन्द है |

जो आनंद वियोग में है ,वह संयोग में नहीं |

जब तक जीवन में मौत का भय रहता है ,तब तक आत्मा परिपूर्ण नहीं रह सकती ;हम सुखी जीवन नहीं जी सकते | यह एक ऐसी घटना है की उसे बड़े सहज रूप से ,प्रेम से स्वीकार करने में ही आनन्द है |

वास्तविक आनन्द उसे जो प्राप्त होता है ,जो अपना कार्य उचित रीति से करता है |

जीवन का आनंद गौरव के साथ ,सम्मान के साथ ,स्वाभिमान के साथ जीने में है |

दयालु हृदय प्रसन्नता का फव्वारा है | वह अपने पास की प्रत्येक वस्तु मुस्कानों से भरकर ताजा बना देता है |

वही व्यक्ति सबसे अधिक दौलतमंद है ,जिसकी प्रसन्नता सबसे सस्ती है |

कंजूस नहीं ,मितव्ययी बनिए और सुखी रहिए |

दूसरों की खुशियों के लिए अपनी खुशियों कुर्बान कर देना ही इंसानियत है |

जो खुशियाँ हम सिर्फ अपने लिए हासिल करते हैं ,उनसे आख़िरकार हम उकता ही जाते हैं |

जब भी आपने खुद से यह सवाल किया कि मैं खुश हूँ तो समझिए आपकी खुशियों का खात्मा हो गया |

प्रश्न रहने चारों ओर का वातावरण भी प्रसन्न रहता है |

सभी लोग -जो आनंद चाहते हैं ,आनंद बाँटना चाहिए ,क्योकि सुख और आनंद जुड़वाँ पैदा हुए हैं |

संसार में प्रसन्न रहने का उपाय यह है कि अपनी जरूरतें कम करो |

वैराग्य के बिना कोई भी अपने सम्पूर्ण अंतःकरण को ,परोपकार में नहीं उड़ेल सकता | वैरागी मनुष्य ही सबको समान दृष्टि से देखता है और सबकी सेवा में अपने को झोंक सकता है |

प्रसन्नता वह चन्दन है ,जिसे दूसरे के मस्तिष्क पर लगाने से अपनी अंगुलियाँ अपने आप महक है |

आनन्द का अंतरंग सरलता ,है बहिरंग सौंदर्य है ,इसी से वह स्वस्थ रहता है |

दुश्मन के मरने पर ख़ुशी न मनाओ ,क्योंकि कल आपको भी मरना है |

किसी के गिरने पर ख़ुशी मत कर ,क्या मालूम कल तेरे साथ क्या होगा |

मुस्कराहट रूह का दरवाजा खोल देती है |

प्रसन्नता चित से दिया गया अल्पदान भी अल्प नहीं होता है |

प्रसन्नता स्वास्थ्य है ,इसके विपरीत उदासी रोग है |

जिस शख्स को कर्जा लेने और खुशामद करने की जरूरत नहीं वह दुनिया में सबसे बड़ा मालदार है |

आनंद की पूर्ति सौंदर्य में दृष्टिगोचर होती है ,आनंद बाहरी हालात पर नहीं आंतरिक अवस्था पर निर्भर है |

संयम और त्याग के रास्ते से ही आनंद और शान्ति तक पहुँचा जा सकता है |

सुख और आनंद नहीं प्रदान कर सकती ,वह सुंदर नहीं हो सकती और जो सुंदर नहीं हो सकती ,वह सत्य भी नहीं हो सकती | जहाँ आनंद है ,वहीं सत्य है |

पीड़ा तो स्वयं को संभाल पाती है ,परन्तु आनंद का भार बाँटने के लिए तो किसी मनुष्य का तुम्हारे साथ होना आवश्यक है |

क्षण -भर भी काम के बिना रहना ईश्वर की चोरी समझो ,मैं दूसरा कोई रास्ता भीतरी या बाहरी आनंद का नहीं जनता |

अविश्वासी व्यक्ति कभी शान्त नहीं रह सकता | मन की शान्ति के बिना क्या ख़ुशी सम्भव है ?

अगर डरते हो तो डरो उस ख़ुशी से ,जो तुम किसी दूसरे को दुःख देकर अपनाते हो |

उस ख़ुशी से दूर रो जो क गम बन कर काँटे की तरह दुःख दे |

जिन्दगी हमारे बस में नहीं ,मगर दूसरों को खुश रखना अख्तियार में है |

एक खुशमिज़ाज शख्स मुर्दा दिलों की दवा है |

अपने चेहरे पर मुस्कराहट और ख़ुशी का मेकअप इतनी खूबसूरती से करो कि दुखों की झुर्रियों नजर न आएं

गम और ख़ुशी जिंदगी के ऐसे दो धागे हैं ,जिनके तानेबाने के बगैर जिंदगी की चादर नहीं बुनी जा सकती |

स्वतंत्रता का मूल्य सदा उत्तरदायित्व होता है |

हँसी दिल की गांठें बहुत आसानी से खोल देती है |

जो हमेशा हँस सकता है ,वह निर्धन नहीं हो सकता |

इस छाया -जगत में हम किसके लिये जी रहे हैं ? खुशियाँ उन्हें ही नसीब होती हैं जो औरों के लिए जीते हैं |

सभी लोगों को जो आनंद चाहते हैं ,आनंद बांटना चाहिए ,क्योंकि आनंद जुड़वा पैदा हुआ है |

दुनिया की चीजों में सुख की तलाश फिजूल है | आनंद और शांति तक पहुँचा जा सकता है |

Updated: April 17, 2021 — 5:23 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *