सुविचार Suvichar in Hindi

सुविचार

eshayari.in

किसी ने पूछा इस दुनियां मैं , आप का अपना कौन हैं। मैंने हँस कर कहा ” समय ”
अगर वो सही ,तो सभी अपने , वरना कोई नहीं। किस्मत वालो को ही मिलती हे ,. पनाह दोस्तों के दिल में यूँ ही हर शख्स … जनत का हक़दार नहीं होता।

सफलता की पोशाक कभी तैयार नहीं मिलती इसे बनाने के लिए म मेहनत का हुनर चाहिए। … ”अच्छे ” और ”सच्चे ” रिश्ते ना तो ”खरीदा” जा सकता हे ,

और ना ही ”उदार” लिए जा सकते हे इसीलिए उन लोगो को जरूर ”महत्व ” दे जो आपको ”महत्वा” देते हे सुप्रभात

वक़्त नूर को बेनूर बना देता है। वक्त फ़कीर को भी हुजूर बना देता है ,
वक़्त की कद्र कर ऐ बन्दे , वक़्त कोयले को भी कोहिनूर बना देता है।

सही समय पर पिये गए कड़वे घुट हमेशा,
जीवन मीठा कर दिया करते है।
” सु प्रभात “

लाजमी नहीं हे की हर किसी को मोत छूकर निकले,
किसी -किसी को छुकर जिंदगी निकल जाती हे।

हर दुःख की दवा हे सिमरन हर मुख से निकली दुवा हे सिमरन जो जोड़ दे इस प्रभु के सात हमें उसका एक जरिया हे सिमरन हर मुसीबत का हल हे सिमरन जो मिटा दे इस रूह की भूक प्यास को ऐसी एक खुराक हे सिमरन

सृष्टि का एक नीयम है जो बाटोगे वही आपको पास बेहिसाब होगा फिर वह चाहेधन धन वह अन्न होसमान हो अपमान हो नफरत हो या मोहबत सु प्रभात

कोई इरादा ना कर ख्वाहिसों मे खुद को आधा ना कर, ये देगी उतने ही ज़ितना लिखदिया परमात्मा ने, इस तकदीर से उम्मीद ज्यादा ना कर जिंदगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेके आती है और जिन्दकी की हर साम कुछ तर्जुबे ददेके जाती है।

सुविचार Suvichar in Hindi

“इंसान ने वक्त से पूछा। … ”में हार क्यों जाता हूँ ? वक़त ने कहा।
धुप हो या छाव हो, काली रात हो या बरसात हो। चाहे कितनी बुरे हालत हो,

में हर वक़त चलता रहता हु इसी लिए में जीत जाता हु, तू भी मेरे सात चल, कभी नहीं हारोगे।”

महुँ से जबान सब रखते हे। …. मगर कमल कमाल वो करते हे।
…. जो उसे सबाल के रखते हे। . सु प्रभात।

प्रेम ऐसा अनुभव है, जो मनुष्य को कभी हारने नही देता,
और घृणा ऐसा अनुभव है, जो इंसान को कभी जीतने नही देता।

माली प्रतिदिन पौधों को पानी देता हैं।, मगर फल सिर्फ मौसम मैं ही आते हैं।
इस लिए जीवन में धैर्य रखे प्रतेक चीज, अपने समय पर होगी।
प्रति दिन बहतर काम करे। आपको उसका फल समय पर जरूर मिलेगा। …..

हम तो फूलो की तरह , अपनी आदत से बेबस हे। ..
तोड़ने वाले को भी , खुसबू की सजा देते हे। ..

बातें बड़ी नहीं हुवा करती हैं , बातें बड़ी नहीं हुवा करती हैं ,
बल्कि हम एक ही बात को बार बार सोच सोच कर बड़ा बना देते हैं।

वो बादल भी कितने खुश नसीब होते हैं ,जो इतनी दूर आसमान पर रहकर भी जमी पर बरसते है।
और एक तरफ बड़े बदनसीब हम , जो एक ही दुनियाँ मैं रह कर भी मिलने को तरसते हैं।

जब कोई किसी का भरोसा तोड़ता है ,तो सबसे पहले जुबा खामोश हो जाता हैं।

जो सफर की सुरुवात खुशी से करता है प्रभू उनके जीवन मैं खुशियों के रंग भर देते है। सफर की सुरुवात सेवा से करते हैं , उनके चेहरे पर खुशियों के रँग उभर आते हैं।
जो सफर की सुरुवात सिमरण से करता है वो प्रभू के पवन चरणों मैं रहते हैं।

सुविचार हिन्दी मैं

एक मंदिर मैं लिखा था , अगर आप का मन गन्दा है तो , मंदिर मैं जरूर आएं क्योंकि ,जब छोटा सा बच्चा अगर कीचड मैं गिर जाये तो उश्के बाद वो अपने माँ बाप के पास ही जाते हैं।

इसी लिए मन मैं विश्वाश रखकर कोई हार नहीं सकता ,
और मन मैं संका रखकर कोई जीत नहीं सकता।

जब आप जीवन मैं सफल होते हैं ,तब आपके दोस्तों को पता चलता हैं की आप कोन हैं।
जब आप जीवन मैं असफल होते हैं तब आप को पता चलता हैं को आप के दोस्त कौन हैं।।

जब पानी गन्दा हो तो उसे हिलाते नहीं है , बल्कि शांत छोड़ देते हैं। जिससे गन्दगी अपने आप नीचे बैठ जाती हैं ,

इसी प्रकार जीवन मैं परेशानी आने पर बेचेन होने के बजाय शांत रह कर उस का विचार करें ,हल जरूर निकलेगा। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *